ऑस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंड मैच पर संकट, सिडनी में जहरीला धुंआ बन सकता है मुसीबत

Total Views : 162
Zoom In Zoom Out Read Later Print

न्यूजीलैंड की टीम तीसरे और अंतिम टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया के निराशाजनक दौरे पर अपना सम्मान बचाने उतरेगी. हालांकि खिलाड़ियों के लिए जंगल में लगी आग के धुंए से परेशानी हो सकती है.

  • 3 जनवरी से सिडनी में खेला जाना है टेस्ट मैच
  • जंगल में लगी आग से मैच पर संकट के बादल

न्यूजीलैंड की टीम तीसरे और अंतिम टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया के निराशाजनक दौरे पर अपना सम्मान बचाने उतरेगी. हालांकि खिलाड़ियों के लिए जंगल में लगी आग के धुंए से परेशानी हो सकती है. न्यू साउथ वेल्स के जंगल में लगी आग से मैच में चुनौती मिलेगी क्योंकि इस दौरान तापमान और धुआं बढ़ सकता है.

क्रिकेट अधिकारियों के लिए धुएं का मुद्दा जटिल है क्योंकि यह इस समय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद, राज्य सरकारों और ऑस्ट्रेलियाई खेल संस्थान के वायु गुणवत्ता संबंधित दिशानिर्देशों पर निर्भर हैं. बहरहाल, ‘सुरक्षित’ क्या है, इस पर असंमजस है इसलिए क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया और खिलाड़ियों का संघ दृश्यता और हवा की गुणवत्ता पर बेहतर प्रोटोकाल बनाने पर काम कर रहा है.

जंगल की आग से निकलने वाले जहरीले धुंए के कारण इस महीने कैनबरा में बिग बैश लीग मैच स्थगित कर दिया गया था. इस समय यह अंपायरों के फैसले पर निर्भर होगा कि परिस्थितियां सुरक्षित हैं या नहीं. पर्थ और मेलबर्न में पहले दो टेस्ट में न्यूजीलैंड को चार दिन के अंदर करारी शिकस्त झेलनी पड़ी थी.

कब होगी धोनी की वापसी, क्या भविष्य तय करेगा IPL 2020?

सीरीज गंवाने के बाद वह अब सम्मान बचाने की कोशिश में होगा. कोच गैरी स्टेड ने भी स्वीकार किया कि मेलबर्न में न्यूजीलैंड की टीम फिर ऑस्ट्रेलिया से पिछड़ गई जिसमें उन्हें 247 रनों से हार का सामना करना पड़ा और उन्हें हरसंभव प्रयास कर वापसी करनी होगी.

उन्होंने कहा, ‘हमें कुछ विभागों में सुधार करना होगा और ऑस्ट्रेलिया को लंबे समय तक दबाव में रखना होगा.’ स्टेड ने कहा, ‘ऑस्ट्रेलिया के पास तीन गेंदबाज हैं, जो 145 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी करते हैं और एक स्पिनर (नाथन लियोन) है जिसने 300 टेस्ट विकेट हासिल किए हैं.’ वहीं ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन ने स्पष्ट किया कि सीरीज जीतने के बावजूद उनकी टीम की आराम करने की कोई इच्छा नहीं है.