अब टीम-11 की जगह, टीम-9, यूपी में कोविड से लड़ने के लिए योगी ने लीडरशिप में किया बदलाव.

Total Views : 454
Zoom In Zoom Out Read Later Print

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना से लड़ने के लिए बनाई गई टीम को अब छोटा कर दिया है, टीम-11 की जगह अब टीम-9 तैयार की गई है. कई अधिकारियों को इस टीम-11 से हटा दिया गया है जबकि तीन मंत्रियों को इसमें शामिल किया गया है.

यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार ने टीम-11 में बदलाव किया है. जिस टीम 11 को लेकर योगी सरकार अपना शासन चलाती रही है, उस टीम-11 को अब छोटा कर टीम-9 कर दिया गया है. टीम-11 से हटा दिया गया है जबकि तीन मंत्रियों को इसमें शामिल किया गया है.


योगी सरकार पर लगातार यह आरोप लग रहा था कि उन्होंने 11 अफसरों की एक टीम बना रखी है, जो महामारी के इस दौर में सारे काम देखती है लेकिन जब कोरोना भयावह रूप ले लिया तो इस टीम 11 पर सवाल उठना लाजिमी था. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अब कोविड प्रबंधन से जुड़े सभी कामों के टीम-9 का गठन किया है, जो कोरोना पर नियंत्रण पाने के लिए नीतिगत निर्णय करेगी. ये टीम सीधे मुख्यमंत्री को रिपोर्ट करेगी.


चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना की अध्यक्षता में गठित यह टीम अस्पतालों में बेड, पैरामेडिकल स्टाफ और टीकाकरण से जुड़े कामों को देखेगी. स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह की अध्यक्षता में गठित कमेटी एंबुलेंस सेवाओं को देखेगी और सभी जिलों में इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल रूम के कामकाज की समीक्षा करेगी.


9 लोगों की टीम में अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ऑक्सीजन की व्यवस्था और आपूर्ति को देखेंगे, इसके अलावा आपूर्तिकर्ताओं और ट्रांसपोर्टरों से समन्वय स्थापित करेंगे. कंटेनमेंट जोन की जिम्मेदारी डीजीपी को दी गई है, हितेश चंद्र अवस्थी की अध्यक्षता में गठित समिति कंटेनमेंट जोन में प्रभावी व्यवस्था कैसे करें ये देखेगी.

अपर मुख्य सचिव ग्राम विकास एवं पंचायती राज मनोज कुमार सिंह की अध्यक्षता में गठित समिति सभी ग्रामीण क्षेत्रों और शहरों में सैनिटाइजेशन का काम देखेगी.

See More

Latest Photos