जानें कहां-कहां मौत के बाद जीते प्रत्याशी, जीत गईं चुनाव लेकिन जिंदगी की जंग में मिली हार.

Total Views : 496
Zoom In Zoom Out Read Later Print

पंचायत चुनाव की वोटिंग के बाद चुनाव के रिजल्ट का बेसब्री से इंतजार कर रहे कई प्रत्याशी अपनी जीत का जश्न भी नहीं मना सके। मतगणना से पहले ही कुछ प्रत्याशियों की मौत हो चुकी है।

किसी ने कोरोना के चलते दम तोड़ दिया तो किसी की अन्य बीमारी के चलते मौत हो गई। दो मई को मतगणना के बाद प्रत्याशी की जीत का ऐलान तो हुआ लेकिन जश्न मनाने के लिए प्रत्याशी अब दुनिया में नहीं था। प्रत्याशी की मौत के गम में उनके समर्थक भी मायूस थे। प्रत्याशी के घर में मातम छाया था। प्रत्याशी की मौत के बाद रिजल्ट आने को लेकर कई जगहों पर चुनाव दोबारा कराने का ऐलान किया गया है। 

मैनपुरी जिले में भी एक प्रत्याशी ने पंचायत चुनाव के दौरान ही दम तोड़ चुकी है। मतगणना से ठीक पहले महिला प्रत्याशी का निधन हो गया था। पंचायत चुनाव के दौरान ही उनकी तबीयत खराब हो गई थी। परिजन उन्हें अस्पताल लेकर आए जहां उन्होंने दम तोड़ दिया। रविवार को ग्राम पंचायत नगला ऊसर के प्रधान पद के वोटों की गिनती हुई। गिनती के बाद प्रधान पद की प्रत्याशी रहीं पिंकी देवी ने 115 वोटों से जीत हासिल कर ली। उन्होंने निवर्तमान प्रधान चंद्रावती को पराजित किया। चूंकि पिंकी देवी की मौत पहले ही हो चुकी है इसलिए परिणाम घोषित होने के बाद भी यहां फिर से चुनाव कराया जाएगा। प्रत्याशी की मौत होने के बाद जीत का परिणाम आया, फिर भी परिजन जीत का जश्न नहीं मना सके। ग्रामीण भी इस परिणाम को लेकर चर्चाएं करते नजर आए।

बनारस में जीत की सूचना मिलते ही दम तोड़ा:

वाराणसी के पिंडरा ब्लॉक के नंदापुर के ग्राम प्रधान की सुनरा देवी ने अपने निकटम प्रतिद्वंद्वी को 3 मतों से हराकर जीत हासिल की।लेकिन जीत की खुशी उनके लिए मौत लेकर आई। जीत की सूचना मिलते ही आईसीयू में भर्ती सुनरा देवी की मौत हो गई। सुनरा देवी  को 294 मत तथा  प्रेमशीला को 291 मत मिला। मृत प्रधान  सुनरा देवी का प्रमाणपत्र उनके पुत्र अजय यादव ने लिया। वही अमौत गांव के लालधारी ने अपने प्रतिद्वंद्वी नीतू को 186 मतों से हराया।

मौत के बाद महिला प्रत्याशी की जीत की घोषणा
अमरोहा के गंगेश्वरी विकास खंड के गांव खनौरा में प्रधान पद की प्रत्याशी सविता पत्नी राजकुमार 165 वोट से चुनाव जीतीं लेकिन यह बदकिस्मती रही कि शुक्रवार रात उनका कोराना की वजह से निधन हो गया। आज उनकी जीत के ऐलान के बाद भी परिवार खुशी से दूर गम में डूबा रहा। 

सुबह मौत हुई, दोपहर में ग्राम प्रधान पद पर विजयी घोषित की गईं विमला देवी

देवरिया के विकास खण्ड भागलपुर की ग्राम पंचायत कपूरी एकौना से प्रधान पद की प्रत्याशी विमला देवी (55) की रविवार की सुबह जिला अस्पताल में मौत हो गई जबकि दोपहर में आए चुनाव परिणाम में वह विजयी रहीं।

See More

Latest Photos