ब्रैड हॉग की भविष्यवाणी, बताया- कौन सा भारतीय गेंदबाज तोड़ेगा मुरलीधरन के 800 विकेटों का रिकॉर्ड

Total Views : 354
Zoom In Zoom Out Read Later Print

नई दिल्ली। टेस्ट क्रिकेट की दुनिया में अगर सबसे अच्छे ऑल टाइम स्पिनर की बात की जाये तो श्रीलंका के महान स्पिनर मुथैया मुरलीधरन का नाम जरूर लिया जाता है जिनके नाम 800 टेस्ट विकेट लेने का रिकॉर्ड है। क्रिकेट इतिहास में इस रिकॉर्ड को तोड़ना नामुमकिन नजर आता है तो वहीं पर इसके आस-पास पहुंचना भी बड़ी बात समझ आती है, हालांकि ऑस्ट्रेलिया के पूर्व स्पिन गेंदबाज ब्रैड हॉग का मानना है कि मुरली धरन के इस रिकॉर्ड को भारतीय टीम के ऑफ स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन तोड़ सकते हैं। ब्रैड हॉग का मानना है कि बढ़ती उम्र के साथ-साथ अश्विन की गेंदबाजी की धार भी बढ़ती जा रही है और वह जल्द ही टेस्ट क्रिकेट में 600 से ज्यादा विकेट लेते हुए नजर आ सकते हैं।

इतना ही नहीं हॉग का मानना है कि अश्विन के अंदर वो काबिलियत है कि वो मुथैया मुरलीधरन के 800 टेस्ट विकेट के रिकॉर्ड को तोड़ने का दम रखते हैं। हॉग ने अश्विन को मौजूदा समय का बेस्ट स्पिन गेंदबाज बताया और कहा कि वो हर मैच से पहले अपने गेम पर मेहनत करते हैं और पहले से ज्यादा खतरनाक हो जाते हैं।
 


ब्रैड हॉग ने टाइम्स नाव को दिये एक इंटरव्यू में कहा,' अश्विन 34 साल के पूरे हो चुके हैं और मुझे लगता है कि वह 42 की उम्र तक टेस्ट क्रिकेट खेल सकते हैं। मेरा मानना है कि जैसे-जैसे उनकी उम्र बढ़ी है अश्विन की बल्लेबाजी में गिरावट देखने को मिली है लेकिन उनकी गेंदबाजी पहले से ज्यादा घातक हो गई है, ऐसे में अगर वो 42 तक टेस्ट खेलते हैं तो मैं उन्हें 600 से ज्यादा विकेट लेते हुए देखता हूं। वह मुरलीधरन के रिकॉर्ड को भी तोड़ सकते हैं।' हॉग का मानना है कि अश्विन के अंदर बतौर क्रिकेटर विकेट लेने की जबरदस्त भूख है और हर कंडीशन में तालमेल बिठाने की कला बेहद खतरनाक बनाती है। अश्विन ने इंग्लैंड की परिस्थितियों को समझने के लिये वहां काउंटी क्रिकेट भी खेली और पिछले कुछ सालों में काफी कामयाबी हासिल की।

 उन्होंने अश्विन की तारीफ करते हुए आगे कहा,'अश्विन मौजूदा समय में दुनिया के बेस्ट ऑफ स्पिनर हैं, लेकिन नियमों और परिस्थितियों में आये बदलाव के चलते हम उन्हें ऑल टाइम ग्रेट नहीं कह सकते हैं। अश्विन किसी भी कॉम्पिटिशन में हारना पसंद नहीं करते हैं, वह क्रिकेट के मैदान को शतरंत की बिसात के रूप में देखते हैं और दिमाग से विपक्षी टीम को रोकने का काम करते हैं। अश्विन बल्लेबाजों को टेस्ट करते हैं।'