ऐसे हुआ फर्जीवाड़े का खुलासा, एक ही संपत्ति पर 23 अलग-अलग बैंकों से लिया लोन.

Total Views : 259
Zoom In Zoom Out Read Later Print

गाजियाबाद के इंदिरापुरम के शक्ति खंड-तीन में एक संपत्ति पर करीब 23 बैंकों से धोखाधड़ी कर लोन लेने का मामला सामने आया है। नोएडा सेक्टर-126 स्थित शिवालिक मार्केटाइल कॉपरेटिव बैंक लिमिटेड ने इंदिरापुरम थाना पुलिस में दो आरोपियों के खिलाफ गुरुवार को रिपोर्ट दर्ज कराई है।

बैंक की ओर से दर्ज कराई गई रिपोर्ट में आरोप है कि शक्ति खंड-तीन निवासी उमेश कुमार ने वर्ष 2012 में अपने फ्लैट समेत भोपुरा स्थित एक संपत्ति के आधार पर बैंक से 85 लाख रुपये का लोन लिया था। लोन नहीं चुकाने के कारण खाता एनपीए हो गया। उसे 1.78 करोड़ रुपये का कर्ज अदा करने के लिए नोटिस दिया गया था। रुपये अदा नहीं करने पर जनवरी 2014 में बैंक ने संपत्ति पर कब्जा कर नीलामी प्रक्रिया शुरू कर दी।

नीलामी नोटिस जारी करने के बाद बैंक को जानकारी मिली कि आरोपी कर्ज धारक उमेश कुमार व गारंटर अजय जैन ने जाली कागजात के जरिये बैंक से लोन लिया था।

बैंक ने शिकायत में आरोप लगाया कि बदमाशों ने दिल्ली-एनसीआर के 23 बैंको से धोखाधड़ी व जालसाजी कर नकली कागजातों के आधार पर करोड़ों की चपत लगाई है। इस दौरान धोखाधड़ी कर लोन लिए गए बैंकों में सार्वजनिक क्षेत्र के साथ निजी व कॉपरेटिव संस्थान भी शामिल हैं। पुलिस ने आरोपी उमेश कुमार और अजय के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है। एसपी ट्रांस हिंडन ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि मामले में रिपोर्ट दर्ज कर जांच की जा रही है। जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।