टोक्यो ओलंपिक गेम्स पर कोरोना वायरस का अटैक, खेल गांव में मिला पहला केस

Total Views : 108
Zoom In Zoom Out Read Later Print

जापान के टोक्यो शहर में होने वाले ओलंपिक खेलों के शुरू होने में अब एक हफ्ते से भी कम का समय बाकी रह गया है। कोरोना वायरस की वजह से पिछले साल से लगातार खेल प्रभावित हो रहे हैं और यह क्रम अब भी जारी है। ओलंपिक खेलों में भाग लेने वाले खिलाड़ियों के लिए बनाए गए गांव में एक व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। इस बात की सूचना आयोजकों ने दी है। यह पहला ऐसा मामला है, जो इन खेलों में कोराेना संक्रमण के बारे में चिंताओं को बढ़ाता है।

टोक्यो 2020 के सीईओ तोशीरो मुटो ने कंफर्म किया है कि खेलों के आयोजन में शामिल विदेश से आया एक व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। उन्होंने गोपनीयता की वजह से इस खिलाड़ी की राष्ट्रीयता का खुलासा नहीं किया। बता दें कि इस बार वैश्विक महामारी के कारण पिछले साल स्थगित हुए टोक्यो ओलंपिक 2020 ज्यादातर दर्शकों के बिना और कड़े क्वारंटाइन नियमों के तहत आयोजित किए जा रहे हैं।

इससे पहले आयोजकों ने गुरुवार को जानकारी दी थी कि जापान में एक एथलीट और पांच ओलंपिक वर्कर कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। ये खबर ऐसे समय में आई, जब ब्राजील की ओलंपिक जूडो टीम की मेजबानी करने वाले होटल के 8 कर्मचारियों के कोरोना पॉजिटिव निकलने की पुष्टि हुई। इसके अलावा रूस की रग्बी सेवन्स टीम के एक स्टाफ सदस्य के कोरोना पॉजिटिव निकलने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

इसके अलावा शुक्रवार को ओलंपिक में हिस्सा लेने पहुंचा युगांडा के एक एथलीट के लापता होने से हड़कंप मचा गया। जानकारी के अनुसार गायब होने वाला एथलीट का नाम जूलियस सेकिटोलेको है और वह एक वेटलिफ्टर है। जापान की पुलिस इस एथलीट की तलाश में जुटी हुई है, लेकिन अभी तक इस खिलाड़ी का पता नहीं लग सका है। बताया जा रहा है कि हर रोज होने वाले पीसीआर टेस्ट के लिए समय उनको होटल में नहीं पाया गया।