लखीमपुर कांड में घायल पत्रकार की मौत, कल 4 किसानों सहित 8 की गई थी जान

Total Views : 31
Zoom In Zoom Out Read Later Print

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर में रविवार को हुई हिंसा में घायल एक पत्रकार की मौत हो गई। साधना न्यूज़ चैनल के तहसील रिपोर्टर रमन कश्यप (35 वर्ष) की मौत की खबर आ रही है। उनके पिता रामदुलारे ने पोस्टमॉर्टम हाउस पहुंचकर उनके शव की पहचान की है। तेज रफ्तार गाड़ी ने रविवार को कुछ किसानों को रौंद दिया था, जिसके बाद प्रदर्शनकारी भड़क उठे। कई गाड़यिां फूंक दी गईं और गाड़ी सवारों को बुरी तरह पीटा गया। कुचले गए किसानों में से चार की मौत हो गई थी, जबकि प्रदर्शनाकिरयों ने गाड़ी के ड्राइवर सहित चार भाजपा कार्यकर्ताओं को मार दिया था।

लखीमपुर हिंसा केस में केंद्रीय गृह राज्‍य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। वहीं, किसानों ने आरोपी की गिरफ्तारी होने तक शवों का अंतिम संस्‍कार नहीं करने का ऐलान कर दिया है। इस मामले में मंत्री के बेटे सहित14 लोगों के खिलाफ हत्‍या, आपराधिक साजिश सहित कई धाराओं में एफआईआर दर्ज की गई है।

मंत्री की सफाई- बीजेपी कार्यकर्तओं पर हुए पथराव
बेटे पर लगे आरोपों को लेकर मंत्री अजय मिश्रा ने सफाई दी है कि किसानों के बीच छुपे हुए कुछ उपद्रवी तत्वों ने उनकी (भाजपा कार्यकर्ताओं) गाड़ियों पर पथराव किया, लाठी-डंडे से वार करने शुरू किए। फिर उन्हें खींचकर लाठी-डंडों और तलवारों से मारापीटा, इसके वीडियो भी हमारे पास हैं। उन्होंने गाड़ियों को सड़क से नीचे खाई में धक्का दिया। उन्होंने गाड़ियों में आग लगाई, तोड़फोड़ की। मेरा बेटा कार्यक्रम खत्म होने तक वहीं(कार्यक्रम स्थल) था, उन्होंने जिस तरह से  घटनाएं की हैं अगर मेरा बेटा वहां(घटनास्थल पर) होता तो वो उसकी भी पीटकर हत्या कर देते।

प्रियंका तुम पीछे नहीं हटोगी, किसानों को जिता कर रहेंगे: राहुल
लखीमपुर खीरी में किसानों की मौत के बाद मौके पर पहुंची कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की उनके भाई राहुल गांधी ने हौसला अफजाई की है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने ट्वीट कर कहा कि उत्तर प्रदेश प्रशासन आपके साहस से स्तब्ध है। आपको बता दें कि यूपी पुलिस ने प्रियंका को हिरासत में ले लिया है।  राहुल गांधी ने में ट्वीट कर कहा, "प्रियंका, मैं जानता हूँ तुम पीछे नहीं हटोगी- तुम्हारी हिम्मत से वे डर गए हैं। न्याय की इस अहिंसक लड़ाई में हम देश के अन्नदाता को जिता कर रहेंगे।"