शाहिद अफरीदी ने कहा - भारत-पाकिस्तान क्रिकेट केवल मोदी के कारण नहीं हो रहा है, उनकी सोच नकारात्मक है

Total Views : 65
Zoom In Zoom Out Read Later Print

अफरीदी ने हाल ही में युवराज सिंह के साथ एक वीडियो शेयर किया था, इसमें दोनों देशों के क्रिकेट रिश्ते बहाल करने की मांग की थी अफरीदी पहले भी भारत और प्रधानमंत्री मोदी को लेकर आपत्तिजनक बयान दे चुके हैं, गौतम गंभीर का भी उन्होंने मजाक उड़ाया था

खेल डेस्क. पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी ने आरोप लगाया है कि भारत और पाकिस्तान के क्रिकेट संबंधों में नरेंद्र मोदी बाधक हैं। सोमवार को पाकिस्तान के एक स्पोर्ट्स चैनल को दिए इंटरव्यू में अफरीदी ने भारत के प्रधानमंत्री को नकारात्मक सोच का व्यक्ति करार दिया। कहा- मोदी के रहते दोनों देशों के क्रिकेट रिश्ते बहाल नहीं हो सकते। 

कुछ दिनों पहले शाहिद ने युवराज सिंह के साथ एक वीडियो शेयर किया था। इसमें युवी ने भी भारत और पाकिस्तान के क्रिकेट रिश्ते बहाल करने की मांग की थी। सिंह ने कहा था कि इसमें एशेज से भी ज्यादा रोमांच होगा। 

‘मोदी हैं तो नामुमकिन है..’
अफरीदी ने सोमवार को ट्रिब्यून पाकिस्तान के स्पोर्ट्स चैनल को इंटरव्यू दिया। एंकर ने उनसे पूछा- युवराज समेत भारत के कई खिलाड़ी चाहते हैं कि दोनों देशों मे क्रिकेट संबंध बहाल हों। आप इस पर क्या कहना चाहेंगे? इस पर अफरीदी ने कहा, “जब तक मोदी सत्ता में हैं, मुझे नहीं लगता कि भारत की तरफ से कोई सकारात्मक जवाब मिलेगा। हम सभी जानते हैं कि मोदी की सोच क्या है। वो हमेशा नकारात्मक विचार रखते हैं। एक बात साफ है कि भारत और पाकिस्तान के रिश्ते सिर्फ एक शख्स की वजह से बिगड़े। कोई भी ये नहीं चाहता।”   

मुझे नहीं पता मोदी क्या चाहते हैं: अफरीदी
एक अन्य सवाल के जवाब में अफरीदी ने कहा, “दोनों मुल्कों के लोग एक-दूसरे के यहां जाना चाहते हैं। लेकिन, मुझे ये समझ नहीं आता कि नरेंद्र मोदी क्या चाहते हैं? जहां तक क्रिकेट की बात है तो मैं बता दूं कि भारतीय क्रिकेट को आईपीएल ने बदल दिया है। वहां युवा काफी अच्छा खेल रहे हैं।”

दोनों देशों के बीच 2012-13 में आखिरी सीरीज खेली गई

भारत और पाकिस्तान के बीच आखिरी द्विपक्षीय सीरीजी 2012-13 में खेली गई थी। भारत ने आखिरी बार 2006 में पाकिस्तान का दौरा किया था। 26/11 के मुंबई हमले के बाद दोनों देश सिर्फ आईसीसी के टूर्नामेंट्स में साथ खेलते नजर आते हैं।